Rivers of Jharkhand
Jharkhand GK

Rivers of Jharkhand

Chapter-03 Drainage System of Jharkhand

अपवाह प्रणाली एवं नदियाँ [Rivers of Jharkhand]

अपवाह तंत्र

  • झारखण्ड की प्रवाह प्रणाली को दो वर्गों यथा

(1) दक्षिणी प्रवाह प्रणाली,

(2) अंतत: गंगा में मिलने वाली नदियां; में विभाजित किया जा सकता है।

  • स्वर्णरेखा, शंख, दक्षिणी कोयल आदि को पहले वर्ग में तथा दामोदर व उत्तरी कोयल को दूसरे वर्ग में शामिल किया जाता ।
  • इन दोनों के मध्य मिलने वाला जल विभाजन झारखण्ड के लगभग मध्यवर्ती भाग में पूर्व से पश्चिम की दिशा लिए हुए विस्तृत है।
  • छोटानागपुर के पठारी क्षेत्र में अनेक नदियों का प्रवाह है जो भिन्न-भिन्न भागों में अपना अस्तित्व बनाए हुए है।
  • उदाहरणार्थ
  • दामोदर तथा इसकी सहायक नदियाँ हजारीबाग और राँची स्थित धंसान घाटी में,
  • उत्तरी कोयल नदी इस पठार के उत्तर पश्चिम भाग में,
  • दक्षिण कोयल नदी दक्षिणी पश्चिमी भाग में तथा
  • स्वर्ण रेखा नदी दक्षिणी पूर्वी भाग में अपने अपवाह तंत्र का विस्तार करती है ।
  • इन नदियों के अतिरिक्त यहाँ बराकर, अजय, फल्गु, संकरी इत्यादि हैं।
  • इस पठार के उत्तरी भाग से निकल कर उत्तर की ओर प्रवाहित होने वाली नदियों में फल्गु, करी, मोरहर हैं जो गंगा नदी में मिलती हैं इन नदियों की घाटियां लगभग चौरस हैं परन्तु कांट-छांट की प्रवृत्ति अभी भी जारी है ।
  • इनके किनारे अभी भी खड़े ढाल हैं, जिससे अनेक जगह जलप्रपात, संकीर्ण घाटी आदि का निर्माण हुआ है।
  • इन नदियों में से अधिकांश का प्रवाह बरसाती जल पर निर्भर है, क्योंकि मॉनसून काल में ही निरंतर जल का प्रवाह इनमें देखने को मिलता है।
  • छोटसनागपुर पठारी भाग ही यहाँ के नदियों का उद्गम स्थल है, जिन्हें अपवाह तंत्र के आधार पर मुख्यत: पांच भागों में बांटा गया है-

(i) दामोदर नदी घाटी (The Damodar River Basin):

  • इस नदी का प्रवाह क्षेत्र राँची का पठार तथा हजारीबाग पठार के बीच स्थित है।
  • यह भ्रंशित द्रोणी का उदाहरण है।
  • यह पश्चिम से पूर्व दिशा में प्रवाहित होती है।
  • इसकी मुख्य सहायक नदियां बराकर, कोनार, गोबाई इत्यादि हैं।
  • इस नदी का प्रवाह क्षेत्र लगभग छोटानागपुर पठार के एक तिहाई भाग में है।
  • इस नदी की प्रमुख सहायक नदी बराकर लगभग स्वतंत्र रूप से घाटी का निर्माण करती है और दामोदर नदी से अधिक ऊँची भूमि में विभक्त हो जाती है।

(ii) उत्तरी पूर्वी अपवाह तंत्र ( The North Eastern Drainage Basin):

  • छोटानागपुर के उत्तर पूर्वी भाग में अनेक नदियों का प्रवाह क्षेत्र है।
  • इसमें अजय, मोर, ब्राह्मणी, गुमानी प्रमुख हैं।
  • ये राजमहल पहाड़ी के पूर्वी भाग को सिंचित कर गंगा में मिल जाती हैं ।

(iii) स्वर्णरेखा नदी घाटी (The Suvarnrekha River Basin ) :

  • इस नदी घाटी की शुरुआत राँची पठार के मध्य भाग में पिस्का – नगड़ी से होती है और दक्षिण पूर्व दिशा में प्रवाहित होती है।
  • इस नदी की सबसे प्रमुख शाखा खरकाई है जो जमशेदपुर के निकट मिलती है।

(iv) दक्षिण कोयल नदी घाटी (The South Koel River Basin) :

  • यह नदी राँची पठार के दक्षिण-पश्चिम भाग में प्रवाहित होती है।
  • इसके प्रवाह क्षेत्र में पत प्रदेश का दक्षिणी हिस्सा शामिल है, जहाँ से अनेक छोटी-छोटी नदियाँ आकर इसमें मिलती हैं। इनमें सबसे प्रमुख सहायक नदी शंख है।

(v) सोन तथा उत्तरी कोयल नदी घाटी (The Son & The Koel River Basin) :

  • इन नदियों का प्रवाह क्षेत्र छोटानागपुर पठार के उत्तर पश्चिमी भाग में खासकर पलामू जिला में है ।
  • उत्तरी कोयल नदी पत प्रदेश का पश्चिमी हिस्सा सिंचित करती है।
  • इस नदी को अमानत, औरंगा, गोगरा तथा मैला नदियों से भी जल प्राप्त होता है।
  • यह पलामू जिला के लगभग मध्य भाग से गुजरकर सोन नदी में मिलती है और कैमूर के पहाड़ी भाग को छोटानागपुर के पठारी भाग से विभक्त करती है।
Rivers of Jharkhand
Rivers of Jharkhand

झारखण्ड की महत्त्वपूर्ण नदियाँ

उत्तरवर्ती नदियाँ

सोन :

  • इस नदी का उद्गम मैकाल पर्वत की अमरकंटक की पहाड़ी है।
  • उत्तरी कोयल इसकी सहायक नदी है। अपवाह क्षेत्र पलामू तथा गढ़वा है।

उत्तरी कोयल :

  • राँची पठार के मध्य भाग से निकलकर पात क्षेत्र घुमावदार पथ बनाती हुई यह नदी उत्तर की ओर बढ़ती है।
  • औरंगा व अमानत इसकी प्रमुख सहायक नदियाँ हैं । अपवाह क्षेत्र राँची हजारीबाग में व पलामू कीकट हैं।

पुनपुन:

  • इसका उद्गम उत्तरी कोयल प्रवाह क्षेत्र के उत्तर से है ।
  • बमागघी इसका उपनाम है । दारधा व मोरहर इसकी सहायक नदियाँ हैं।

फल्गु :

  • छोटानागपुर के पठारी भाग से निकली यह नदी ताल क्षेत्र के निकट गंगा नदी में मिल जाती है।
  • निरंजना ( लीलाजन) व मोहना इसकी सहायक धाराएं हैं। इसका उपनाम अंतः सलिला है।
  • पितृ पक्ष के समय दूर-दूर से यात्री फल्गु स्नान के लिए आते हैं और पिण्ड दान करते हैं।
  • इसका केवल उद्गम स्रोत ही झारखण्ड में है ।

सकरी :

  • उत्तरी छोटानागपुर के पठारी भाग से निकली इस नदी का उपनाम सुमागधी (रामायण) भी है।
  • किउल व मोहर इसकी सहायक धाराएं हैं। आगे चलकर यह गंगा में मिल जाती है। मार्ग बदलने के लिए है यह नदी कुख्यात है।

चानन या पंचाने :

  • छोटानागपुर के पठारी भाग से निकली यह नदी पांच जलधाराओं – पेमार, तिलैया, धनारजे, महाने व पंचाने के मिलने से बनी है।

कन्हार नदी

  • कन्हार नदी छत्तीसगढ़ के सरगुजा से निकलती है।
  • यह गढ़वा जिले के भंडरिया ब्लॉक से झारखंड में प्रवेश करती है।
  • यह झारखंड, छत्तीसगढ़ और उत्तर प्रदेश से होकर बहती है।
  • यह सोन नदी की एक सहायक नदी है।
  • इसमें पावई फॉल्स, गुरु-सिंधु फॉल्स और सुखदारी फॉल्स जैसे कई झरने शामिल हैं।
  • वर्तमान में, कनहर नदी विकास योजना सहित कनहर जलविद्युत परियोजना गढ़वा जिले के बाराडीह पर कनहर जलाशय पर केंद्रित है।
  • सहायक नदियाँ- सुरिया, सेंदुर, गलफुल्ला, गोइता, चना, लानवा, थीम, हाथीनाला, रिगर, पांडु, कुरसा और चेर्ना नाला।

पूरबवर्ती या दक्षिणवर्ती नदियाँ

दामोदर :

  • छोटानागपुर के पठारी भाग में लातेहार जिले को टोरी क्षेत्र से निकली यह नदी अपने निचले क्षेत्र में भयंकर तबाही मचाती थी, जिसके कारण इसे बंगाल का शोक कहा जाता था।
  • बहुउद्देशीय दामोदर घाटी परियोजना के बन जाने से यह अब इस क्षेत्र के लिए वरदान बन चुकी है।
  • बराकर, बोकारो, कोनार, जमुनियाँ, कतरी आदि सहायक नदियों के साथ यह कोलकाता के निकट हुगली नदी में मिल जाती है।
  • यह झारखण्ड की सबसे लम्बी (झारखण्ड में 290 किमी; कुल लम्बाई 524/541 किमी.) तथा सबसे प्रदूषित नदी है।
  • इसका अपवाह क्षेत्र हजारीबाग, गिरिडीह, धनबाद, बोकारो लातेहार, राँची, लोहरदग्गा है।
  • इसका एक उपनाम देवनदी भी है।

स्वर्णरेखा :

  • छोटानागपुर के पठारी भाग में राँची के नगड़ी गाँव से निकली यह नदी बंगाल की खाड़ी में गिरती है।
  • झारखण्ड की यह एकमात्र नदी है, जो स्वतंत्र रूप से बंगाल की खाड़ी में गिरती है ।
  • राँची से 28 किमी. उत्तर-पूर्व दिशा में यह हुंडरू जल प्रपात का निर्माण करती है।
  • इस नदी के रेत में सोने के कण पाए जाते हैं
  • कोकरो, काँची व खरकई इसकी सहायक नदियाँ हैं ।
  • इसका अपवाह क्षेत्र राँची व सिंहभूम जिला है।

बराकर :

  • छोटानागपुर के पठार से निकलकर यह नदी दामोदर नदी में मिल जाती है।
  • इसका अपवाह क्षेत्र हजारीबाग, गिरिडीह व धनबाद है ।

दक्षिणी कोयल :

  • छोटानागपुर के पठार से राँची के नगड़ी गाँव से निकली यह नदी उड़ीसा में शंख नदी में मिल जाती है।
  • कारो इसकी सहायक नदी है।
  • इसका अपवाह क्षेत्र लोहरदग्गा, गुमला, पश्चिमी सिंहभूम राँची है।

शंख :

  • इसका उद्गम गुमला जिले के चैनपुर प्रखण्ड में है, जो आगे चलकर दक्षिणी कोयल नदी में मिल जाती है ।
  • इसका अपवाह क्षेत्र गुमला है।

 

अजय :

  • देवघर व दुमका में बहने वाली इस नदी का उद्गम बिहार के मुंगेर में स्थित है।
  • यह पश्चिम बंगाल में कटबा के निकट भगीरथी नदी में मिल जाती है।
  • पथरो, जयन्ती इसकी सहायक नदियाँ हैं।

मोर या मयूराक्षी :

  • देवघर के चित्रकूट या तिउर पहाड़ी से निकली यह नदी गंगा में मिल जाती है।
  • झारखण्ड की इस एकमात्र नौगम्य नदी का अपवाह क्षेत्र दुमका, साहेबगंज, देवघर व गोड्डा है।
  • घोवाई, टिपरा, पुसरो, भामरी, मूनबिल, सिंध, दउना इसकी सहायक नदियाँ हैं ।

ब्राह्मणी :

  • इसका उद्गम दुमका जिले के उत्तर में स्थित दुधवा पहाड़ी है।
  • पश्चिम बंगाल में यह गंगा में मिल जाती है। गुमरो व ऐरो इसकी सहायक नदियाँ हैं।

गुमानी :

  • राजमहल की पहाड़ी से निकली यह नदी आगे चलकर गंगा में मिल जाती है। मेरेल इसकी सहायक नदी है ।

बांसलोई नदी :

  • इसका उद्गम गोड्डा जिले की बांस पहाड़ी है, जो आगे चलकर पश्चिम बंगाल में गंगा में मिल जाती है।
Sr no. Name of River Origin Endpoint Length (km)
Subarnarekha River Chotanagpur Plateau Bay of Bengal near Talsari 395
South Koel River Chhattisgarh Jharkhand 220
Damodar River Palamu district Bay of Bengal near Gadiara 592
North Koel River Chhattisgarh Jharkhand 360
Ganges Uttarakhand Bay of Bengal 2,510
Barakar River Chota Nagpur Plateau Damodar River 225
Sankh River Chota Nagpur Plateau Damodar River 240
Mayurakshi River Jharkhand Hooghly River 250
Kharkai River Chota Nagpur Plateau Subarnarekha River 220
South Karo River Chota Nagpur Plateau Subarnarekha River 160
Falgu River Gaya district Phalgu River 200
Amanat River Jharkhand Ganges 100
River Auranga Jharkhand Ganges 80
Bansloi River Chota Nagpur Plateau Damodar River 120
North Karo River Chota Nagpur Plateau Subarnarekha River 170
Punpun River Jharkhand Ganges 200
Ajay River Jharkhand Hooghly River 288
Sone River Amarkantak Ganges 784
Bokaro River Chota Nagpur Plateau Damodar River 80
Koina River Chota Nagpur Plateau Subarnarekha River 83
Sakri River Jharkhand Ganges 120
Kanhar River Chhattisgarh Son River 275
Lilajan River Jharkhand Ganges 80
Burha River Jharkhand Ganges 100
Jamunia River Jharkhand Ganges 48
Deo River Jharkhand Ganges 48
River Konar Hazaribagh district Damodar River 145
Chandan River Jharkhand Ganges 80
Bakreswar River Jharkhand Ganges 80
Hinglo River Jharkhand Ganges 80
Brahmani River Birbhum district Bay of Bengal 800
Telen River Jharkhand Ganges 80
Dwaraka River Jharkhand Ganges 156
Mohana River Jharkhand Ganges 48
Kiul River Jharkhand Ganges 111
Baitarani River Jharkhand Bay of Bengal 360
Kansabati River Jharkhand Bay of Bengal 465
Mahanadi River Chhattisgarh Bay of Bengal 900

II. जलप्रपात

  • ऊँचाई से एकबारगी नीचे गिरते हुए जल को ‘जलप्रपात’ (waterfalls) कहते हैं।
  • झारखण्ड के पठारी क्षेत्र में अनेक जलप्रपात पाए जाते हैं। जो नदी के बहाव मार्ग में मृदु शैल के अपरदन या कठोर शैल के अवरोध के कारण बने हैं।
क्र. प्रमुख जलप्रपात स्थिति
उसरी गिरिडीह जिले की उसरी नदी में धनबाद से 52 किलोमीटर दूर मुख्य सड़क से 2 किलोमीटर अन्दर खण्डोली पहाड़ी के ढलान पर स्थित ।
क्रांति चंदवा कुंडू मार्ग पर सेन्हा गाँव से 6 किलोमीटर दूर स्थित ।
केलाघाघ सिमडेगा से 3 किमी. दक्षिण-पश्चिम में दो पहाड़ियों के बीच स्थित ।
गुरसेंधु रंका से 15 किमी. की दूरी पर तथा गढ़वा से चिनिया पहुँचने के बाद 10 किमी. की दूरी पर स्थित
गूंगाझझ गढ़वा जिले में स्थित।
गोवा चतरा से 6 किमी. पश्चिम जलेद गाँव में स्थित ।
गौतमघाघ महुआडांड से 10 किमी. दक्षिण – पूर्व में स्थित, ऊँचाई : 36 मीटर ।
घरघरिया लोहरदगा से 20 किमी. दूर पाट क्षेत्र की तलहटी पर स्थित ।
घाघरी नेतरहाट पठार प नेतरहाट से 7 किमी. उत्तर में घाघरी नदी पर स्थित, ऊँचाई : 43 मीटर ।
जोन्हा/गौतमधारा राँची से 32 किमी. दक्षिण-पूर्व में राहू नदी पर स्थित, ऊँचाई: 17 मीटर ।
तमासीर चतरा से 26 किमी. की दूरी पर स्थित ।
थाकोरा पश्चिम सिंहभूम के मंझारी प्रखण्डान्तर्गत विदरी गाँव से 6 किमी. की दूरी पर स्थित ।
रजरप्पा रामगढ़ से 25 किमी. पूरब में दामोदर एवं भेड़ा (भैरवी) नदी के संगम पर स्थित, ऊँचाई : 4 मीटर ।
लुपुंगुटु चाईबासा से 2 किमी. की दूरी पर बसे लुपुंगुटु गाँव में स्थित ।
सदनीघाघ गुमला जिले में शंख नदी पर स्थित, ऊँचाई : 60 मीटर ।
सुखलदरी नगरऊँटारी से 35 किमी. दक्षिण में स्थित, ऊँचाई : 30 मीटर ।
सुगाकाटाघाघ सिमडेगा से 23 किमी. की दूरी पर बसे हरदीबेड़ा; व पुरनापानी गाँव के पास शंख नदी पर स्थित ।
सुनुआ राँची जिले के अनगड़ा प्रखण्डान्तर्गत अनगड़ा से 12 किमी. की दूरी पर स्थित ।
सेरका बिशुनपुर प्रखण्डातान्तर्गत बिशुनपुर से 1 किमी. पूरब में सेरका नदी पर स्थित ।
हिरनी राँची – चाईबासा मार्ग पर चक्रधरपुर से 40 किमी. उत्तर में स्थित ।
हुंडरू राँची से 36 किमी. पूरब अनगड़ा प्रखण्ड के अन्तर्गत स्वर्णरेखा नदी पर स्थित, ऊँचाई : 74 मीटर ।
हेपाद बिशुनपुर से 30 किमी. दूर घाघरा नदी के स्रोत स्थल पर स्थित |
सात् गढ़वा जिले में स्थित ।
दशम राँची से 26 किमी. दूर राँची – टाटा मार्ग के एक तरफ काँची नदी पर स्थित, ऊँचाई : 40 मीटर ।
धारागिरि घाटशिला से 18 किमी. की दूरी पर स्थित ।
नागफेनी गुमला से 14 किमी. दूर नागफेनी नामक स्थान में स्थित |
पंचघाघ खूँटी से 14 किमी. की दूरी पर स्थित ।
प्रेमाघाघ गुमला से 48 किमी. दक्षिण रायडीह प्रखण्ड में स्थित |
पैरनाघाघ तपकारा से 15 किमी. दूर स्थित ।
बलचौरा गढ़वा के घुरकी प्रखण्ड में कन्हर नदी पर स्थित ।
बूढ़ाघाघ / लोघाघाघ लातेहार जिले में महुआडांड़ से 14 किमी. की दूरी पर उत्तरी कोयल नदी पर स्थित, ऊँचाई : 137 मीटर (झारखण्ड का सबसे ऊँचा जलप्रपात )
बोकारो हजारीबाग रोड पर हजारीबाग से 8 किमी. पहले मोरांगी गाँव में स्थित ।
मालूदह चतरा जिले में चतरा से 18 किमी. की दूरी पर स्थित |
मिरचइया लातेहार जिले के गारु प्रखण्ड में गारु से 3 किमी. की दूरी पर स्थित ।
मुनीडीह भटिंडा) धनबाद में मुनीडीह खदान के पास के जंगल में स्थित ।
मोतीझरा राजमहल पहाड़ी पर महाराजपुर रेलवे स्टेशन से 3 किमी. दक्षिण-पश्चिम में अजय नदी पर स्थित, ऊँचाई : 46 मीटर ।

III. गर्म जलकुण्ड

  • झारखण्ड में अनेक गर्म जलकुण्ड मिलते हैं ।
  • जहाँ भौम जल स्तर तथा धरातल का प्रतिच्छेदन हो जाता है, वहाँ धरती का जल बाहर निकलने लगता है, जिसे गर्म जलकुण्ड’ (Hot springs) कहते हैं।
क्र. गर्म जलकुण्ड स्थिति
चरकखुद्र धनबाद – गिरिडीह मार्ग पर टुण्डी से 10 किमी. दूर
कावा हजारीबाग
सूरजकुण्ड हजारीबाग
तेतुलिया धनबाद
तातापानी लातेहार
दुआ चतरा
झरियापानी दुमका
ततलोई दुमका के पलासी के पास झुरझुरी नदी के तट पर
तपातपानी दुमका में कुमराबाद के पास मोर नदी के तट पर
नुनबिल दुमका के केनालगुटा के पास
बारा झरना दुमका से 9 किमी. दूर बारा गाँव में
बारामसिया पाकुड़
रानी बहल दुमका- सूरी मार्ग पर नानी बहल में मोर नदी के तट पर
झुमका रानीबहल के निकट मोर नदी के तट पर
शिवपुर सोता पाकुड़
लाडला उदह पाकुड़

MCQs

1. निम्नलिखित में से कौन झारखंड की सबसे प्रमुख नदी है ?

(A) दामोदर (B) स्वर्णरेखा (C) फल्गु (D) बराकर

उत्तर : (A) दामोदर

2. झारखंड में दामोदर नदी का विस्तार है

(A) छोटानागपुर पठार के उत्तर-पश्चिम भाग में (B) छोटानागपुर पठार के दक्षिण-पश्चिम भाग में

(C) हजारीबाग तथा राँची स्थित धँसान घाटी में (D) इनमें से कोई नहीं

उत्तर : (C) हजारीबाग तथा राँची स्थित धँसान घाटी में

3. निम्नलिखित में से कौन सा कथन दामोदर नदी के संबंध में सत्य है ?

(A) इस नदी का उद्गम स्थल पलामू जिले में है

(B) इस नदी की कुल लंबाई 541 कि.मी. है

(C) इस नदी का अपवाह क्षेत्र 25,820 वर्ग कि.मी. क्षेत्र में है

(D) उपर्युक्त सभी

उत्तर : (D) उपर्युक्त सभी

4. निम्नलिखित में से कौन सी नदी दामोदर नदी की सहायक नदी नहीं है ?

(A) फल्गु (B) बराकर (C) गोबाई (D) कोनार

उत्तर : (A) फल्गु

5. निम्नलिखित में से कौन सा नगर दामोदर नदी के किनारे स्थित है ?

(A) हजारीबाग (B) धनबाद (C) साहिबगंज (D) जमशेदपुर

उत्तर : (B) धनबाद

6. निम्नलिखित में से किस नदी को बिहार तथा बंगाल का शोक कहा जाता है?

(A) दामोदर (B) स्वर्णरेखा (C) उत्तरी कोयल (D) दक्षिणी कोयल

उत्तर : (A) दामोदर

7. दामोदर नदी का बहाव निम्नलिखित में से किस दिशा में है ?

(A) पूर्व से पश्चिम (B) पश्चिम से पूर्व (C) उत्तर से दक्षिण (D) दक्षिण से उत्तर

उत्तर : (B) पश्चिम से पूर्व

8. निम्नलिखित में से कौन सा दामोदर नदी पर बना बाँध है?

(A) पंचेत, कोनार (B) तिलैया, अच्चर (C) मैथान, बर्मो (D) उपर्युक्त सभी

उत्तर : (D) उपर्युक्त सभी

9. निम्नलिखित में से कौन सी नदी कुल्टी के पास हुगली नदी में मिल जाती है?

(A) स्वर्णरेखा (B) दामोदर (C) अजय (D) संकरी

उत्तर : (B) दामोदर

210. निम्नलिखित में से कौन सी नदी राँची के पिस्का नगड़ी के रानी चुंबा से निकलती है?

(A) किऊल (B) संकरी (C) स्वर्णरेखा (D) औरंगा

उत्तर : (C) स्वर्णरेखा

11. स्वर्णरेखा नदी निम्नलिखित में से किस दिशा में बहती है?

(A) पूर्व से पश्चिम (B) उत्तर से दक्षिण (C) दक्षिण से पूर्व (D) दक्षिण से पश्चिम

उत्तर : (C) दक्षिण से पूर्व

12. स्वर्णरेखा नदी झारखंड में बहते हुए निम्नलिखित में से किस राज्य में प्रवेश करती है?

(A) प. बंगाल (B) उड़ीसा (C) छत्तीसगढ़ (D) बिहार

उत्तर : (C) छत्तीसगढ़

13. स्वर्णरेखा नदी के संबंध में निम्नलिखित में से कौन सा कथन सत्य है ?

(A) दक्षिण में यह नदी उड़ीसा की सीमा से लगती हुई पं. बंगाल में प्रवेश करती है

(B) इस नदी पर हुंडरू जलप्रपात स्थित है

(C) इस नदी में सोने के कण पाए जाते हैं

(D) उपर्युक्त सभी

उत्तर : (D) उपर्युक्त सभी

14. किऊल नदी का उद्गम स्थल है—

(A) खगरडीहा (हजारीबाग) (B) चिनिया (गढ़वा) (C) देवरी (गिरिडीह) (D) राखा (पूर्वी सिंहभूम)

उत्तर : (A) खगरडीहा (हजारीबाग)

15. खरकाई किस नदी की प्रमुख शाखा है ?

(A) दामोदर (B) स्वर्णरेखा (C) किऊल (D) बराकर

उत्तर : (B) स्वर्णरेखा

16. निम्नलिखित में से कौन सी नदी छोटानागपुर के उत्तर-पूर्वी भाग में बहती है?

(A) ब्राह्मणी (B) अजय (C) गुमानी (D) उपर्युक्त सभी

उत्तर : (D) उपर्युक्त सभी

17. निम्नलिखित में से कौन सी नदी पोड़ाहाट पहाड़ से निकलती है?

(A) कर्मनाशा (B) ब्राह्मणी (C) औरंगा (D) मोर

उत्तर : (A) कर्मनाशा

18. छोटानागपुर के पठारी क्षेत्र तथा उस क्षेत्र में बहनेवाली नदी के संबंध में निम्नलिखित में से कौन सा युग्म सुमेलित है?

(A) उत्तर-पश्चिमी भाग में उत्तरी कोयल नदी (B) दक्षिण-पश्चिमी भाग में दक्षिणी कोयल नदी

(C) दक्षिण-पूर्वी भाग में स्वर्णरेखा नदी (D) उपर्युक्त सभी

उत्तर : (D) उपर्युक्त सभी

19. झारखंड में बहनेवाली निम्नलिखित में से कौन सी नदी सोहिदा से निकलती है?

(A) कोनार (B) औरंगा (C) गुमानी (D) संकरी

उत्तर : (B) औरंगा

20. झारखंड में बहनेवाली निम्नलिखित में से कौन सी नदी मध्य प्रदेश राज्य के अमरकंटक से निकलती है?

(A) सोन (B) शंख (C) कारो (D) फल्गु

उत्तर : (A) सोन

21. छोटानागपुर पठार के उत्तरी भाग से निकलकर उत्तर की ओर प्रवाहित होनेवाली निम्नलिखित में से कौन सी नदी गंगा नदी में मिल जाती है?

(A) संकरी (B) फल्गु (C) मोरहर (D) उपर्युक्त सभी

उत्तर : (D) उपर्युक्त सभी

22. निम्नलिखित में से कौन झारखंड के अपवाह तंत्र क्षेत्र में शामिल नहीं है ?

(A) दामोदर नदी घाटी क्षेत्र (B) स्वर्णरेखा नदी घाटी क्षेत्र

(C) दक्षिण कोयल नदी घाटी क्षेत्र (D) सोन नदी घाटी क्षेत्र

उत्तर : (D) सोन नदी घाटी क्षेत्र

23. निम्नलिखित में से कौन सी नदी छोटानागपुर पठार के उत्तर-पूर्वी भाग में बहती है?

(A) ब्राह्मणी (B) मोर (C) गुमानी (D) उपर्युक्त सभी

उत्तर : (D) उपर्युक्त सभी

24. निम्नलिखित में से कौन सा झारखंड की नदियों का उद्गम स्थल है ?

(A) छोटानागपुर का पठार (B) हजारीबाग का पठार (C) राँची का पठार (D) इनमें से कोई नहीं

उत्तर : (A) छोटानागपुर का पठार

25. निम्नलिखित में से कौन सी नदी राजमहल की पहाड़ियों में स्थित बठपाड़ से निकलती है?

(A) बराकर (B) अजय (C) खरकाई (D) शंख

उत्तर : (B) अजय

26. निम्नलिखित में से कौन सी नदी राँची के पठार के मध्य से निकलती है ?

(A) उत्तरी कोयल (B) दक्षिणी कोयल (C) संकरी (D) राढू

उत्तर : (A) उत्तरी कोयल

27. निम्नलिखित में से किस नदी का अपवाह क्षेत्र मुख्य रूप से पलामू जिले में है?

(A) सोन नदी (B) उत्तरी कोयल नदी (C) उपर्युक्त दोनों (D) इनमें से कोई नहीं

उत्तर : (C) उपर्युक्त दोनों

28. निम्नलिखित में से कौन सी नदी कैमूर के पहाड़ी भाग को छोटानागपुर के पठारी भाग से अलग करती है?

(A) उत्तरी कोयल (B) दक्षिणी कोयल (C) फल्गु (D) किऊल

उत्तर : (A) उत्तरी कोयल

29. झारखंड की कौन सी ऐसी एकमात्र नदी है, जो स्वतंत्र रूप से समुद्र में गिरती है ?

(A) दक्षिणी कोयल (B) स्वर्णरेखा (C) किऊल (D) अजय

उत्तर : (B) स्वर्णरेखा

30. दक्षिणी कोयल नदी हेयाकोरो के निकट तुमसो से निकलती है । यह स्थान निम्नलिखित में से किस जिले में स्थित है?

(A) राँची (B) हजारीबाग (C) पलामू (D) गढ़वा

उत्तर : (A) राँची

31. निम्नलिखित में से कौन सा तथ्य उत्तरी कोयल नदी की विशेषता नहीं है ?

(A) यह नदी पलामू जिले के लगभग मध्य भाग से गुजरती है

(B) यह नदी पत प्रदेश के पश्चिमी भाग को सिंचित करती है

(C) यह नदी अंत में पुनपुन नदी में मिल जाती है

(D) यह नदी पात क्षेत्र में घुमावदार पथ बनाती हुई उत्तर की ओर बढ़ती है

उत्तर : (C) यह नदी अंत में पुनपुन नदी में मिल जाती है

32. निम्नलिखित में से कौन उत्तरी कोयल नदी की सहायक नदी है ?

(A) अमानत (B) औरंग (C) गोरा (D) उपर्युक्त सभी

उत्तर : (D) उपर्युक्त सभी

33. निम्नलिखित में से किस नदी का प्रवाह क्षेत्र राँची के पठार तथा हजारीबाग के पठार के मध्य स्थित है?

(A) दामोदर (B) स्वर्णरेखा (C) कर्मनाशा (D) बराकर

उत्तर : (A) दामोदर

34. झारखंड की संकरी नदी का उद्गम स्थल है-

(A) उत्तरी छोटानागपुर का पठारी भाग (B) दक्षिणी छोटानागपुर का पठारी भाग

(C) हजारीबाग पठार का मध्य भाग (D) राँची पठार का पूर्वी भाग

उत्तर : (A) उत्तरी छोटानागपुर का पठारी भाग

35. निम्नलिखित में से कौन दक्षिणी कोयल नदी की सहायक नदी है ?

(A) शंख (B) कारो (C) उपर्युक्त दोनों (D) इनमें से कोई नहीं

उत्तर : (C) उपर्युक्त दोनों

36. झारखंड में बहनेवाली पुनपुन नदी का उद्गम स्थल है

(A) मध्य प्रदेश का पठार (B) मानसरोवर झील (C) कैमूर की पहाड़ियाँ (D) अरावली पर्वतमाला

उत्तर : (A) मध्य प्रदेश का पठार

37. झारखंड में बहनेवाली फल्गु नदी का उद्गम स्थल है

(A) छोटानागपुर का पठार (B) विंध्य पर्वतमाला (C) अरावली पर्वतमाला (D) कैमूर की पहाड़ियाँ

उत्तर : (A) छोटानागपुर का पठार

38. झारखंड में संकरी नदी निम्नलिखित में से किस जिले से होकर बहती है ?

(A) पूर्वी सिंहभूम (B) हजारीबाग (C) गढ़वा (D) पलामू

उत्तर : (B) हजारीबाग

39. गंगा नदी झारखंड के किस जिले से लगती हुई बिहार से प. बंगाल में प्रवेश करती है ?

(A) साहिबगंज (B) पाकुड़ (C) उपर्युक्त दोनों (D) इनमें से कोई नहीं

उत्तर : (C) उपर्युक्त दोनों

40. निम्नलिखित में से कौन सी नदी तिलैया, महाने, पंचाने, पेमार तथा धनारजे नामक पाँच जलधाराओं से मिलकर बनी है?

(A) पंचाने (B) गुमानी (C) मोरहर (D) खरकाई

उत्तर : (A) पंचाने

41. झारखंड का सर्वाधिक जल-प्रपातवाला जिला कौन सा है?

(A) हजारीबाग (B) राँची (C) धनबाद (D) पूर्वी सिंहभूम

उत्तर : (B) राँची

42. झारखंड की सबसे प्रदूषित नदी कौन सी है ?

(A) दामोदर (B) स्वर्णरेखा (C) उत्तरी कोयल (D) दक्षिणी कोयल

उत्तर : (A) दामोदर

43. निम्नलिखित में से कौन सा शहर स्वर्णरेखा एवं खरकाई नदियों के संगम पर स्थित है ?

(A) हजारीबाग (B) देवघर (C) जमशेदपुर (D) गिरिडीह

उत्तर : (C) जमशेदपुर

244. निम्नलिखित में से कौन सा नगर कोनार एवं बोकारो नदियों के संगम पर स्थित है?

(A) दुमका (B) बोकारो (C) कोडरमा (D) लोहरदगा

उत्तर : (B) बोकारो

45. झारखंड की निम्नलिखित में से कौन सी नदी वर्षा ऋतु को छोड़ शेष समय में प्राय: सूखी रहती है?

(A) स्वर्णरेखा (B) उत्तरी कोयल (C) दक्षिणी कोयल (D) उपर्युक्त सभी

उत्तर : (D) उपर्युक्त सभी

46. छोटानागपुर में बहनेवाली नदियों को कितने अपवाह तंत्र में विभाजित किया गया है?

(A) दो (B) चार (C) पाँच (D) सात

उत्तर : (C) पाँच

47. निम्नलिखित में से कौन सी नदी पलामू एवं गढ़वा जिले के दक्षिण-पश्चिम में बहती है?

(A) कनहर (B) अजय (C) खरकाई (D) इनमें से कोई नहीं

उत्तर : (A) कनहर

48. निम्नलिखित में से कौन सी नदी धनबाद जिले में बहती है?

(A) सोन (B) चाको (C) ब्राह्मणी (D) धलकिशोर

उत्तर : (D) धलकिशोर

49. दामोदर नदी का कितने किलोमीटर अपवाह क्षेत्र झारखंड राज्य में है?

(A) 180 कि.मी. (B) 240 कि.मी. (C) 290 कि.मी. (D) 330 कि.मी.

उत्तर : (C) 290 कि.मी.

50. निम्नलिखित में से कौन सी नदी हजारीबाग एवं गिरिडीह जिले में बहती है ?

(A) मोहिनी (B) संकरी (C) नीलांजन (D) उपर्युक्त सभी

उत्तर : (D) उपर्युक्त सभी

THE END

Waterfall of Himachal Pradesh — Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page