Minerals of Madhya Pradesh
Madhya Pradesh GK

Minerals of Madhya Pradesh

Minerals of Madhya Pradesh

Minerals of Madhya Pradesh
Minerals of Madhya Pradesh
Minerals of Madhya Pradesh
Minerals of Madhya Pradesh
धात्विक खनिज
खनिज उत्पादक जिले प्रमुख क्षेत्र विशेष
ताँबा बालाघाट, छिंदवाड़ा मलाजखण्ड ताँबा – नगरी मलाजखंड बालाघाट को कहा जाता है।

यहाँ पर हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड (HCL) ताँबे का उत्खनन करती है ।

मैग्नीज बालाघाट, छिंदवाडा भरवेली, तरोड़ी, रमरमा भरवेली (बालाघाट) एशिया की सबसे बड़ी संचित खान है।

मैंगनीज धारवाड़ चट्टानों में पाया जाता हैं ।

सोना सीधी सिंगरौली और कटनी माझौली (सीधी), इमलिया (कटनी),

चकरिया (सिंगरौली)

कटनी के इमलिया गाँव में 2017 व सिंगरौली के चकरिया गाँव 2019 में सोने के भण्डार प्राप्त हुए है।
लौह-अयस्क जबलपुर, कटनी विजयराघवगढ़ (कटनी) लोहा कैम्ब्रियन चट्टानों में पाया जाता है ।

म.प्र. में लोहा उत्खनन का कार्य बैलाडीला लिमिटेड (छत्तीसगढ़) करती है ।

टंगस्टन होशंगाबाद आगर गांव वोल्फ्राम (Wolfram), टंगस्टन धातु का महत्वपूर्ण अयस्क है ।
सीसा होशंगाबाद, दतिया इसका प्रमुख अयस्क गैलेना है ।
कोरण्डम सिंगरौली, सीधी पीपरा (सिंगरौली) कोरण्डम एल्युमिनियम का अयस्क है ।
बॉक्साइट बालाघाट, अनूपपुर, कटनी अमरकंटक, बैहर बॉक्साइट एल्युमिनियम का अयस्क है ।

1908 में सर्वप्रथम कटनी में उत्खनन किया गया था ।

डोलोमाइट झाबुआ, अलीराजपुर मैग्नीशियम का एक अयस्क है ।
टिन बैतूल इसे कैसिटेराइट भी कहा जाता है।
अधात्विक खनिज
खनिज उत्पादक जिले प्रमुख क्षेत्र विशेष
अभ्रक बालाघाट, ग्वालियर म.प्र. में मस्कोबाईट व बायोटाइट प्रकार का अभ्रक मिलता है ।
रॉक फास्फेट झाबुआ, खरगौन, सागर गुना (NFL) में उर्वरक बनाने में इसका उपयोग किया जाता है ।
हीरा पन्ना, सतना, छतरपुर हिनोता, मजगवां –पन्ना

अंगोर, वक्शवाह (बँडेर) – छतरपुर

कोटारिया – सतना

मध्यप्रदेश का प्रथम डायमंड म्यूजियम खजुराहो में व प्रथम डायमंड पार्क पन्ना में प्रस्तावित है।
ग्रेफाइट बैतूल हिंदुस्तान इलेक्ट्रो ग्रेफाइट ( HEG) मंडीदीप में स्थित है ।
चूना पत्थर कटनी, जबलपुर, सतना चूना नगरी कटनी को कहा जाता है।
संगमरमर जबलपुर • रंगीन (सिवनी, खंडवा)

• सफेद (जबलपुर)

• हरा (ग्वालियर)

सूरमा जबलपुर एंटीमनी (सूरमा) का वर्गीकरण उपधातु के रूप में किया जाता है ।
एस्बेस्टस झाबुआ, होशंगाबाद
फेल्सपार जबलपुर, शहडोल यह अभ्रक का सह उत्पाद है ।
बाइराइट टीकमगढ़, देवास, धार इसे बेरियम सल्फेट भी कहा जाता है ।
कैलसाइट झाबुआ और खरगौन कुरंद (सिंगरौली)
डायस्पोर / पाइरोफिलाइट छतरपुर, टीकमगढ़, शिवपुरी
फ्लोराइट कटनी
ग्लास सैंड मुरैना, छतरपुर, दतिया
गेरू सतना जैतवारा क्षेत्र (सतना) गेरू उत्पादन का भारत में म.प्र. का प्रथम स्थान है ।
स्लेट मंदसौर

आण्विक खनिज

  • यूरेनियम मध्यप्रदेश में केवल शहडोल जिले मे पाया जाता है ।
  • शहडोल को यूरेनियम जिला के नाम से जाना जाता है ।
  • यूरेनियम का प्रमुख खनिज अयस्क पिंच ब्लैंड हैं ।

जीवाश्म खनिज

Minerals of Madhya Pradesh
Minerals of Madhya Pradesh

मध्यप्रदेश में कोयला

  • म.प्र. में सर्वाधिक कोयला सिंगरौली जिले में पाया जाता है ।
  • सिंगरौली में कोयले की सबसे मोटी परत पाई जाती है ।
  • सिंगरौली को म.प्र. की ऊर्जा राजधानी भी कहा जाता हैं ।
  • म.प्र. में सर्वाधिक बिटुमिनस प्रकार का कोयला पाया जाता है
  • उद्योगों की जननी कोयला को कहा जाता है।
  • कोयले का संचय निचली गोंडवाना शैल समूह में पाया जाता है
  • झिंगूरदाह क्षेत्र (सिंगरौली) में बिटूमिनस कोयले की सबसे मोटी परत पाई जाती है।
  • मध्यप्रदेश का कोयला उत्पादन में स्थान ———– तीसरा
  • मध्यप्रदेश का कोयला सकल उत्पादन में स्थान —– चौथा
  • मध्यप्रदेश का कोयला भण्डारण में स्थान ——— पाँचवा
  • उमरिया – सबसे छोटा कोयला क्षेत्र (16 वर्ग किमी.)
  • सोहागपुर म.प्र. का सबसे बड़ा कोयला क्षेत्र है ।
  • सिंगरौली – उत्तम प्रकार का कोयला पाया जाता है ।

मध्यप्रदेश में कोयला उत्पादन करने वाली कम्पनियाँ

क्र. कम्पनी क्षेत्र
1. नॉर्दन कोलफील्ड लिमिटेड NCL

(सर्वाधिक उत्पादन करने वाली कम्पनी)

सिंगरौली
2. साउथ ईस्ट कोलफील्ड लिमिटेड SECL शहडोल, अनूपपुर, उमरिया
3. वेस्टर्न कोलफील्ड लिमिटेड WCL छिन्दवाड़ा, बैतूल

कोलबेड मीथेन

  • कोल बैंड मीथेन कोयला भंडारों के साथ संयुक्त रूप से पायी जाती है ।
  • मध्यप्रदेश के शहडोल जिले के सोहागपुर में कोल बेड मीथेन के भण्डार पाए जाते हैं।
  • सोहागपुर में कोलबेड मीथेन का उत्पादन रिलायंस इंडस्ट्री द्वारा किया जा रहा है ।

Exam Help Points

  • म.प्र. खनिज निगम की स्थापना 1962 में की गयी ।
  • म.प्र. की पहली खनिज नीति 1995 में लायी गयी ।
  • म.प्र. की नई खनिज नीति 2010 में लायी गयी ।
  • गोल्ड प्लेजर – नदियों की रेत में पाए जाने वाले स्वर्ण कणों को गोल्ड प्लेजर कहा जाता है । यह गोल्ड प्लेजर युकान नदी अलास्का एवं भारत में स्वर्ण रेखा एवं सोन नदी में अल्प मात्रा मे पाए जाते हैं ।
  • म.प्र. का रेणुकूट – बॉक्साइट उत्पादन के कारण अमरकंटक को मध्यप्रदेश का रेणुकूट कहा जाता है ।
  • मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ से लोहा निर्यात जापान देश को विशाखापट्टनम बंदरगाह से किया जाता है ।
  • Minerals of Madhya Pradesh
    Minerals of Madhya Pradesh

    मध्यप्रदेश से डोलोमाइट राउरकेला इस्पात संयंत्र उड़ीसा निर्यात किया जाता है ।

  • खनिजों को मुख्य खनिज (लौह अयस्क, मैग्नीज़, सोना इत्यादि) और गौण खनिज (रेत, ग्रेनाईट, कंकड़, इमारती पत्थर इत्यादि) के रूप में वर्गीकृत किया गया है ।
  • मध्यप्रदेश में लगभग 23 प्रकार के मुख्य खनिज और कई गौण खनिजों का उत्पादन होता है ।
  • गुलाबी, लाल और राखी रंग का ग्रेनाइट पत्थर बुंदेलखंड क्षेत्र के टीकमगढ़, छतरपुर, पन्ना में मिलता है।
  • छतरपुर जिले में ग्रेनाइट का खनन मेसर्स फोर्च्यून स्टोन लिमिटेड द्वारा किया जाता है, जिसका निर्यात कोरिया, इंडोनेशिया तथा अन्य पूर्वी एशियाई देशों को किया जाता है ।

मध्यप्रदेश के प्रमुख खनिज क्षेत्र एक झलक में याद करें

खदान खनिज जिला
मलाजखंड, शीतलपानी, गिधरी धौली, जट्टा और गढ़ी डोंगरी ताँबा क्षेत्र बालाघाट
कटेरा, गढ़ीमलहरा, हर्दवार ग्रेनाइट छतरपुर
आगर गाँव टंगस्टन क्षेत्र होशंगाबाद
हिनौता, रामखेरिया हीरा क्षेत्र पन्ना
पीपरा कोरंडम क्षेत्र सिंगरौली
भरवेली, तिरोड़ी, रमरमा, मिरगपुर मैंगनीज क्षेत्र बालाघाट
काँचीढ़ाना, गोबरी बधोना मैंगनीज क्षेत्र छिन्दवाड़ा
गोसलपुर मैंगनीज क्षेत्र जबलपुर कटनी
माझौली सोना क्षेत्र सीधी
गुरहार पहाड़ सोना क्षेत्र सिंगरौली
निबुआ, चकरिया सोना क्षेत्र सिंगरौली
रानीपुर, नागौद बॉक्साइट सतना
अमरकंटक, पशमाना दादर, खपड़ीपानी, देवसनी पहाड़ बॉक्साइट क्षेत्र अनूपपुर
बैहर पठार, मुण्डी दादर बॉक्साइट बालाघाट
पीपरपानी डोलोमाइट छिन्दवाडा
दुल्हापुर डोलोमाइट सिवनी
विजयराघवगढ़, कन्हवारा पहाड़ी लौह क्षेत्र कटनी
सरोली, सिहोरा, अगरिया पहाड़ी लौह क्षेत्र जबलपुर
सोहागपुर, बुढ़ार कोयला क्षेत्र शहडोल
गोरबी,जयंत, झिंगुरदाह कोयला क्षेत्र सिंगरौली
नौरोजाबाद, कोरार, बिरसिंहपुर कोयला क्षेत्र उमरिया
चिकली, बरकुही, रावनवाड़ा, इकलेहरा, भमोड़ी, चांदामेटा, चिकली, अमवाड़ा, दतला, हिंगनदेवी, दमुआ और शिवपुरी कोयला क्षेत्र छिन्दवाड़ा
पाथाखेड़ा, शाहपुर-तवाघाटी, सारणी कोयला क्षेत्र बैतूल
बिजुरी-झगराखंड, कोतमा कोयला अनूपपुर (पूर्व में शहडोल)
मोहर कोयला क्षेत्र सिंगरौली
नीमबहेरा चूना-पत्थर नीमच
भदनपुर, झुकेही चूना पत्थर क्षेत्र मैहर
नागौद, बेला चूना पत्थर क्षेत्र सतना
बनकुईया, रामनई, नौबस्ता चूना पत्थर क्षेत्र रीवा

THE END

Find More —

Transport of MP —Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page