HISTORY

  • Maurya Empire Questions Answers
    HISTORY

    Maurya Empire Questions Answers

    Chapter-07 Maurya Empire मौर्य साम्राज्य [Part-04] Maurya Empire Questions Answers Multiple Asked Questions 1- वह ग्रन्थ जिसमें पाटलिपुत्र प्रशासन का वर्णन उपलब्ध है – (a) अर्थशास्त्र (b) इण्डिका (c) राजतरंगिणी (d) पुराण 2- अशोक को स्मरण किए जाने का कारण है – (a) कलिंग विजय (b) बौद्ध महासम्मेलन (c) बौद्ध धर्म प्रचार । (d) जनहित 3- धर्म महामात्र का कार्य था – (a) बौद्ध धर्म प्रचार (b) मठाधीश कर्तव्य । (c) धर्म परिभाषित करना। (d) नैतिक सिद्धान्तों का प्रचार करना। 4- तृतीय बौद्ध सम्मेलन सम्पन्न हुआ था। (a) राजगृहे। (b) वैशाली (c) कुण्डलवन (d) पाटलिपुत्र । 5. भारतीय लोगों के जिस गुण की मेगस्थनीज ने प्रशंसा की है, वह है…

  • QUESTIONS about Post Maurya
    HISTORY

    QUESTIONS about Post Maurya

    Chapter-08 मौर्योत्तर काल Post Maurya [Part-03] Click here – To Download the Complete Notes. It contains Chapter-08 Post Maurya Empire which divided into three different post/blogs in website as (1) Post Maurya Empire (2) Foreign Invasion in India (3) Questions about Post Maurya Empire It includes 42 page pdf having multiple images and maps and Covers all Questions About the post Maurya with explanation that asked in the all civil services examinations Click Here – to See PART-01 Click Here – to See Part-02 QUESTIONS about Post Maurya 1- शाही उपाधि ‘कैसर’ किससे उद्भूत थी? (a) फारसी (b) सीथियन (c) चीनी (d) रोमन 2- मातृ देवी उमा का नाम किसके…

  • Foreign Invasion in India
    HISTORY

    Foreign Invasion in India

    Foreign Invasion in India Chapter-08 मौर्योत्तर काल Post Maurya [Part-02] Click here – To Download the Complete Notes. It contains Chapter-08 Post Maurya Empire which divided into three different post/blogs in website as (1) Post Maurya Empire (2) Foreign Invasion in India (3) Questions about Post Maurya Empire It includes 42 page pdf having multiple images and maps and Covers all Questions About the post Maurya with explanation that asked in the all civil services examinations II. विदेशी उत्तराधिकारी मौर्य काल के पतन के बाद मध्य एशिया से हिंद-यवन (इंडो-ग्रीक) आक्रमण शक आक्रमण पार्थियाई (पह्लव) आक्रमण व कुषाणों ने भारत पर आक्रमण किया तथा एक बड़े क्षेत्र पर अधिकार कर…

  • मौर्योत्तर काल Post Maurya
    HISTORY

    मौर्योत्तर काल Post Maurya

    Chapter-08 मौर्योत्तर काल Post Maurya  [Part-01] Click here – To Download the Complete Notes. It contains Chapter-08 Post Maurya Empire which divided into three different post/blogs in website as (1) Post Maurya Empire (2) Foreign Invasion in India (3) Questions about Post Maurya Empire It includes 42 page pdf having multiple images and maps and Covers all Questions About the post Maurya with explanation that asked in the all civil services examinations ब्राह्मण राज्य – मौर्य साम्राज्य के उत्तराधिकारी राज्यों को 2 वर्गों में विभक्त किया जा सकता है। 1. देशी उत्तराधिकारी, 2. विदेशी उत्तराधिकारी। मौर्य साम्राज्य के पतन के उपरांत ब्राह्मण साम्राज्य का उदय हुआ। इस साम्राज्य के अंतर्गत…

  • HISTORY

    Chapter-01 Terms used in Ancient & Medieval India

    Art & Culture Unit-02 Miscellaneous of Ancient & Medieval History Chapter -01 Terms used in Ancient & Medieval India To Download the notes   — Click here Join FB Group – UPSC & UPPSC 2021-2022 Click Here To View more in Art and Culture — Click here Terms in Ancient Indian History प्रशासनिक शब्दावली अंत – महामात्र – मौर्यकालीन प्रमुख सीमान्त अधिकारी ये सीमावर्ती जनजातियों को सभ्य बनाने और धम्म के उपदेश देने का कार्य करते थे। ये चुंगी और सीमाशुल्क के अधीक्षक भी थे। अंतपाल– सीमाओं का प्रमुख सैन्य अधिकारी। अंतर्वशिक-सैन्यम – अन्तःपुर की सुरक्षा एवं उसकी देखरेख के लिए तैनात प्रभारी सैनिक। अन्तर्वशिक- शाही अन्तःपुर (हरम) का प्रमुख। अन्तेपुर…

  • HISTORY

    Chapter-03 Famous Places/ regions in India

    Unit-02 Miscellaneous Chapter-03 Famous Places/ regions in India To Download the notes for free  — Click here Join FB Group – UPSC & UPPSC 2021-2022 Click Here परिचय भारत देश सांस्कृतिक विविधताओं की भूमि है। प्रत्येक राज्य, शहर और गांव स्वयं में अद्वितीय है और उसका एक अंतहीन इतिहास है। किसी राज्य की संस्कृति को समझने के लिए शहरों, कस्बों और गांवों के इतिहास को समझना आवश्यक है, जो सामूहिक रूप से इसका सामाजिक-जातीय आधार बनाते हैं। कुछ कस्बे और शहर ऐसे धार्मिक केन्द्र हैं, जो सम्पूर्ण विश्व के लोगों को आकर्षित करते हैं। कुछ कस्बों का एक गहन इतिहास भी है और उनके ऐतिहासिक स्मारक सार्वजनिक आकर्षण का केन्द्र-बिंदु…

  • HISTORY

    Chapter-02 Foreign Travellers in Indian History

    Art & Culture Unit-02 Miscellaneous of Ancient & Medieval History Chapter -02 foreign traveler in Indian History To Download the notes for free — click here Content Megasthenes (302–298 BC): Fa-Hien (405–411 AD): Hiuen-Tsang (630–645 AD): I-tsing (671–695 AD): सुलेमान Sulaman (857 ई०) अलमसूदी Alamsudi– 915-16 ई० अलबरूनी Alberuni (998-1030 ई०) मार्कोपोलो (1292-93 ई०) इबनबतूता – Ibn Battuta (1333-1347) निकोलोकान्टी (1420-21 ई०) Nicolocanti अब्दुर्रज्जाक (1443-44 ई०) Abdurrajak एथेनेसियस निकितिन (1470-74 ई०) Athensius Nikitin दुआर्ते बारबोसा (1508-1516 ई०) Duarte Barbosa लुडोबिको डी वार्थेमा (1502-08 ई०) Ludobico de Warthema डोमिंगो पायस (1520-22 ई०) Domingo Pius फर्नाओ नूनीज (1535-37 ई०) Ferno Nunese सीजर फ्रेडरिक (1567-68 ई०) मुगलकाल अकबर फादर एन्थोनी मोंसेरात (1578 ई०)…

  • HISTORY

    Jallianwala bagh massacre

    Jallianwala Bagh Tragedy {13 April-1919} गाँधी जी तथा कुछ अन्य नेताओं के पंजाब प्रवेश पर प्रतिबंध लगे होने के कारण वहाँ की जनता में पर्याप्त आक्रोश था। यह आक्रोश तब अधिक बढ़ गया जब पंजाब के दो लोकप्रिय नेता ‘डॉ० सत्यपाल‘ एवं ‘डॉ० सैफुद्दीन किचलू” को अमृतसर के डिप्टी कमिश्नर द्वारा बिना किसी कारण के 9 अप्रैल, 1919 ई० को गिरफ्तार कर लिया गया। इनकी गिरफ्तारी का आदेश पंजाब प्रांत के लेफ्टिनेंट गवर्नर “माइकल ओ० डायर“ ने दिया था। ये दोनों नेता दिसम्बर, 1919 ई० में होने वाले भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के वार्षिक अधिवेशन की स्वागत समिति से सम्बद्ध थे। इनकी गिरफ्तारी के विरोध में जनता ने एक शान्तिपूर्ण जुलूस…

  • HISTORY

    Unit-02 Decline of Mughal Empire मुगल साम्राज्य का पतन तथा विघटन

    Modern History Unit-02 मुगल साम्राज्य का पतन तथा विघटन TO download the notes —click Here To read more in History — Click Here Facebook Group– Click Here Youtube Page — Click Here मुगल साम्राज्य का पतन तथा विघटन औरंगजेब की मृत्यु 3 मार्च, 1707 ई० को अहमदनगर में हो गई । उस समय उसके तीन पुत्र जीवित थे—मुअज्जम, आजम तथा कामबक्श। औरंगजेब राज्य के बँटवारे के लिए वसीयत लिख गया था, जिससे उत्तराधिकार का युद्ध न हो। वसीयत के अनुसार उसकी इच्छा थी कि उसके सबसे बड़े बेटे मुअज्जम को 12 सूबे मिले तथा उसकी राजधानी दिल्ली हो । मुहम्मद आजम को आगरा, दक्कन के सूबे, मालवा तथा गुजरात मिले…

  • HISTORY

    Chapter-08 Maurya Empire मौर्य साम्राज्य

      Ancient History Chapter-08 Maurya Empire (322 Bc to 185 BC) To download the complete notes — Click here To Read more in Ancient History — Click Here मौर्य साम्राज्य मौर्य साम्राज्य प्रमुख स्रोत नन्द वंश के अन्तिम शासक धननन्द को मारकर, जिस व्यक्ति ने मौर्य वंश की स्थापना की उसका नाम यूनानी लेखकों ने सैन्ड्रोकोट्स बताया। सर्व प्रथम सर विलियमजोंस ने इस सैन्ड्रोकोट्स की पहचान चन्द्रगुप्त मौर्य से की। मौर्य साम्राज्य के विषय में जानकारी के प्रमुख स्रोत निम्नलिखित हैं – कौटिल्य का अर्थशास्त्र। मेगस्थनीज की इण्डिका एवं अन्य यूनानी विवरण। रूद्रदामन का जूनागढ़ अभिलेख। विशाखदत्त की ‘मुद्राराक्षस’ तथा ढुंढिराज की मुद्राराक्षस पर टीका।। बौद्ध और जैन ग्रंथ।। अशोक…

You cannot copy content of this page