उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
Uttarakhand GK

उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011

उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011

उत्तराखण्ड जनगणना- 2011

उत्तराखण्ड जनगणना- 2011

  • यद्यपि भारत में पहली जनगणना 1872 में हुई लेकिन इसकी विधिवत शुरूआत 1881 में रिपन के काल से हुई और तब से प्रत्येक 10 वर्ष पर नियमित जनगणना होती रही है।
  • वर्ष 2011 में 15वीं जनगणना सम्पन्न हुई ।
  • जनगणना की संदर्भ तिथि 1 मार्च, 2011 के 00:00 रखी गई थी। इसके अनंतिम आंकड़े 31 मार्च, 2011 को जारी किये गये थे जबकि अंतिम आंकड़े 30 अप्रैल, 2013 को नई दिल्ली में जारी किये गये हैं।
  • प्रदेश स्तर पर राज्य सम्बंधी अनंतिम आंकड़े 2 अप्रैल, 2011 को देहरादून में जारी किये गये थे, जबकि अंतिम आंकड़े 31 मई, 2013 को जारी किये गये हैं।

कुल जनसंख्या

  • जनगणना, 2011 के अंतिम आंकड़ो के अनुसार राज्य की कुल जनसंख्या 1,00,86,292 है, जिसमें पुरुषों की जनसंख्या 51,37,773 (50.93%) और महिलाओं की जनसंख्या 49,48,519 (49.07% ) है।
  • जनगणना, 2011 के अनुसार राज्य की जनसंख्या देश की कुल जनसंख्या का 0.83 प्रतिशत है। जबकि क्षेत्रफल की दृष्टि से उत्तराखण्ड देश के कुल क्षेत्रफल का 1.69 प्रतिशत है।
  • जनसंख्या की दृष्टि से भारत के राज्यों व केन्द्र शासित प्रदेशों में इसका 20वाँ स्थान है।
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
  • सर्वाधिक जनसंख्या वाला जिला हरिद्वार ( 18,90,422) और सबसे कम जनसंख्या वाला जिला रूद्रप्रयाग ( 2,42,285) है।
  • 10 लाख से अधिक जनसंख्या वाले राज्य में केवल तीन जिले (हरिद्वार, देहरादून और ऊधमसिंह नगर) हैं।
  • राज्य की आधी से अधिक ( 51.91% ) जनता केवल तीन जिलों (हरिद्वार, देहरादून एवं ऊधमसिंह नगर) में निवास करती है।
  • सर्वाधिक जनसंख्या व जनसंख्या प्रतिशत वाले राज्य के 5 जिले क्रमशः (घटते क्रम में ) हैं – हरिद्वार, देहरादून, ऊधमसिंह नगर, नैनीताल एवं पौढ़ी गढ़वाल। [HDUNP]
  • सबसे कम जनसंख्या व जनसंख्या प्रतिशत वाले राज्य के 5 जिले क्रमशः (बढ़ते क्रम में ) हैं – रूद्रप्रयाग, चम्पावत, बागेश्वर एवं उत्तरकाशी व चमोली । [RCBUC]

0-6 आयु वर्ग की जनसंख्या

  • 2011 की जनगणना के अनुसार 0-6 आयु वर्ग के शिशुओं की कुल संख्या 13,55,814 है। जिसमें 7,17,199 (52.90%) बालक और 6,38,615 (47.10%) बालिकाएं है।
  • प्रतिशत की दृष्टि से देखे तो राज्य की कुल जनसंख्या में से शिशुओं का अनुपात या प्रतिशत 13.44 है।
  • 2001 में यह 16.02% था।
  • जनगणना, 2011 के अनुसार 0-6 आयुवर्ग का लिंगानुपात 890 है, जबकि 2001 में यह 908 था ।
  • राष्ट्रीय स्तर पर 0-6 आयुवर्ग का लिंगानुपात 919 है।
  • सर्वाधिक व सबसे कम शिशु लिंगानुपात वाले जिले क्रमशः हैं- अल्मोड़ा (922) व पिथौरागढ़ (816)।

दशकीय वृद्धि दर

  • 2011 की जनगणना के अनुसार 2001-2011 के दौरान राज्य में जनसंख्या का दशकीय वृद्धि दर 18.81% रहा, जो कि इसी अवधि के राष्ट्रीय औसत ( 17.70% ) से अधिक है।
  • दशकीय वृद्धि दर में देश के सभी राज्यों में उत्तराखण्ड का 18वाँ स्थान हैं।
  • विभिन्न दशकों में राज्य की जनसंख्या में होने वाले दशकीय परिवर्तन ( वृद्धिदर) को अधोलिखित सारणी में देखें ।
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
  • उपरोक्त चार्ट से स्पष्ट है कि 2001 – 11 के दौरान दशकीय वृद्धिदर में पूर्व दशक (1991-2001 ) की तुलना में 1.60% की कमी आई है।
  • उपरोक्त चार्ट से स्पष्ट है कि राज्य में सर्वाधिक दशकीय वृद्धिदर (27.45%) 1971 से 1981 के दौरान था ।
  • दशकीय वृद्धिदर के मामले में 1981 एक सीमा वर्ष है, क्योंकि इस वर्ष तक दशकीय वृद्धिदर में निरन्तर वृद्धि होती रही है और इस वर्ष के बाद क्रमशः कमी हो रही है।
  • जनपदवार दशकीय वृद्धिदर को अधोलिखित चार्ट में देखें ।
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
  • उपरोक्त चार्ट से स्पष्ट है कि 2001-11 के दौरान सर्वाधिक दशकीय वृद्धि दर वाला जिला ऊधमसिंह नगर रहा, जबकि सबसे कम दशकीय वृद्धि दर वाला जिला पौढ़ी रहा है।
  • ध्यातव्य है कि 1991-01 के दौरान भी सर्वाधिक दशकीय वृद्धि दर वाला जिला ऊधम सिंह नगर ही था ।
  • 2001-11 के दौरान सर्वाधिक दशकीय वृद्धिदर वाले 5 जिले क्रमशः (घटते क्रम में ) हैं –ऊधम सिंह नगर, देहरादून, हरिद्वार, नैनीताल और चम्पावत। [UDHNC]
  • 2011 के अनुसार अल्मोड़ा (-1.28) व पौढ़ी गढ़वाल (- 1.41 ) की दशकीय वृद्धि दर शून्य से नीचे रही है ।
  • 2001-11 के दौरान सबसे कम दशकीय वृद्धिदर वाले – 5 जिले क्रमशः (बढ़ते क्रम में) हैं- पौढ़ी गढ़वाल, अल्मोड़ा, टिहरी गढ़वाल, बागेश्वर व पिथौरागढ़। [PATBP]
  • 2001-11 के दौरान राज्य के केवल 2 जिलों (हरिद्वार व देहरादून) के दशकीय वृद्धि दर में पूर्व की अपेक्षा वृद्धि हुई है।
  • 2001-11 के दौरान राज्य के 11 जिलों के दशकीय वृद्धिदर में पूर्व वर्ष की अपेक्षा गिरावट दर्ज की गई है। सर्वाधिक गिरावट टिहरी गढ़वाल जिले में दर्ज की गई। जबकि सबसे कम गिरावट ऊ. सि.न. जिले में दर्ज की गई।
  • 2001-11 के दौरान ग्रामीण आबादी में दशकीय वृद्धि दर 11.52%शहरी आबादी में दशकीय वृद्धि दर 39.94% रही।

जनघनत्व

  • एक वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में निवास करने वाले व्यक्तियों की औसत संख्या को जनघनत्व कहते हैं।
  • जनगणना-2001 के अनुसार उत्तराखण्ड का जनसंख्या घनत्व 159 था, जो 2011 में 30 बढ़कर 189 हो गया है।
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
  • राष्ट्रीय स्तर पर जनघनत्व 382 है।
  • देश के राज्यों में जनघनत्व के मामले में उत्तराखण्ड 25वें स्थान पर है।
  • राज्य के सभी जिलों के जनघनत्व का अवलोकन अधोलिखित चार्ट में करें।
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
  • चार्ट से स्पष्ट है कि 2011 में सर्वाधिक जनघनत्व वाला जिला हरिद्वार ( 801 ) और सबसे कम जनघनत्व वाला जिला उत्तरकाशी (41) रहा है।
  • चार्ट के अनुसार सर्वाधिक जनघनत्व वाले 4 जिले क्रमशः (घटते क्रम में ) हैं —- हरिद्वार ( 801 ), ऊधम सिंह नगर ( 649 ), देहरादून (549) एवं नैनीताल (225)। [HUDN]
  • चार्ट के अनुसार सबसे कम जनघनत्व वाले 4 जिले क्रमशः (बढ़ते क्रम में ) हैं —- उत्तरकाशी ( 41 ) चमोली (49), पिथौरागढ़ (68) एवं बागेश्वर ( 116 ) । [UCPB]
  • पूर्व दशक की अपेक्षा जनघनत्व में सर्वाधिक वृद्धि हरिद्वार में हुई, जबकि सबसे कम वृद्धि (-3 की ) अल्मोड़ा में हुई ।

लिंगानुपात

  • प्रति हजार पुरुषों पर स्त्रियों की संख्या को लिंगानुपात कहा जाता है।
  • जनगणना-2001 के समय उत्तराखण्ड का लिंगानुपात 962 था, जो 2011 में बढ़कर 963 हो गया है।
  • यह राष्ट्रीय औसत (943) से अधिक है ।
  • देश के राज्यों में लिंगानुपात के मामले में उत्तराखण्ड 13वें स्थान पर है।
  • विभिन्न वर्षो में राज्य के लिंगानुपात को अधोलिखित चार्ट से अनुशीलन करे । यथा-
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
  • राज्य के 13 जिलों के वयस्य व शिशु लिंगानुपात को अधोलिखित चार्ट में दखें।
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
  • चार्ट के अनुसार राज्य के सर्वाधिक और सबसे कम लिंगानुपात वाले जिले क्रमशः अल्मोड़ा ( 1139 ) और हरिद्वार ( 880) हैं।
  • राज्य के सर्वाधिक लिंगानुपात वाले 4 जिले क्रमशः (घटते क्रम में) हैं —- अल्मोड़ा ( 1139 ), रूद्र प्रयाग ( 1114 ), पौढ़ी गढ़वाल (1103 ) एवं बागेश्वर (1090)। [ARPB]
  • राज्य के सबसे कम लिंगानुपात वाले 4 जिले क्रमशः (बढ़ते क्रम में) हैं —- हरिद्वार (880), देहरादून (902), ऊधम सिंह नगर (920) एवं नैनीताल (934)। [HDUN]
  • ध्यातव्य है कि राज्य के केवल ये ही चार जिले लिंगानुपात में राष्ट्रीय औसत (940) से कम हैं।
  • शेष 9 जिलों का लिंगानुपात राष्ट्रीय औसत (943) से अधिक है।
  • राज्य के 7 जिलों के लिंगानुपात में पूर्व की अपेक्षा वृद्धि हुई है, जबकि शेष 6 जिलों में कमी हुई हैं ।
  • पूर्व दशक की अपेक्षा लिंगानुपात में सर्वाधिक वृद्धि टिहरी व नैनीताल में और सर्वाधिक कमी चम्पावत में हुई है।
  • ध्यातव्य है कि चम्पावत जिले में वर्ष 1991 की तुलना में 2001 में लिंगानुपात में 76 अंक की वृद्धि हुई थी।
  • इन 10 वर्षों में आश्चर्यजनक रूप से चम्पावत में लिंगानुपात स्तर गिरा है ।
  • राज्य के कुल 13 जिलों में से 7 में लिंगानुपात 1000 से अधिक है, अर्थात पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं की संख्या अधिक है।
  • 2011 में राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में लिंगानुपात 1000 व शहरी क्षेत्रों में 884 पाया गया है।

साक्षरता

  • जनगणना 2011 के आँकड़ों के अनुसार उत्तराखण्ड की औसत साक्षरता दर 78.82% है, जो कि सम्पूर्ण देश के औसत साक्षरता दर (73.00%) से अधिक है।
  • 2011 के अनुसार राज्य में पुरुष साक्षरता 87.40% और महिला साक्षरता 70.0% है। यह भी राष्ट्रीय औसत (80.90% एवं 64.60%) से अधिक है।
  • औसत साक्षरता की दृष्टि से इसका भारत में 17 वाँ तथा पुरुष एवं महिला साक्षरता की दृष्टि से क्रमशः 13वाँ एवं 20 वाँ स्थान है।
  • विभिन्न वर्षो में राज्य की प्रतिशत साक्षरता दर को अधोलिखित चार्ट में देखें ।
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
  • चार्ट के अनुसार राज्य की औसत साक्षरता में सर्वाधिक वृद्धि 1961-71 के दौरान हुई है।
  • चार्ट से स्पष्ट है कि 2011 में राज्य की औसत साक्षरता में पूर्व वर्ष (2001) की अपेक्षा 7.20% की वृद्धि हुई है।
  • इस दौरान महिला साक्षरता में 10.4% की तथा पुरुष साक्षरता में 4. 10% की ही वृद्धि हुई ।
  • 2001-11 दौरान सर्वाधिक पुरूष साक्षरता रूद्रप्रयाग (93.90%) में व सबसे कम हरिद्वार ( 81.04%) में रही है।
  • 2001-11 के दौरान सर्वाधिक महिला साक्षरता देहरादून (78.54%) में और सबसे कम उत्तरकाशी में ( 62.35%) रही।
  • जनगणना 2011 के अनुसार सर्वाधिक साक्षरता वाले 4 जिले क्रमशः (घटते क्रम में ) हैं – देहरादून ( 84.25%), नैनीताल (83.88%), चमोली ( 82.65% ) एवं पिथौरागढ़ (82.25% )। [DNCP]
  • जनगणना 2011 के अनुसार सबसे कम साक्षरता वाले 4 जिले (बढ़ते क्रम में) क्रमशः- उधमसिंह नगर ( 73.10%), हरिद्वार (73.43%), उत्तरकाशी (75.8%) व टिहरी ( 76.36% ) हैं । [UHUT]
  • जनगणना 2011 के अनुसार राज्य के विभिन्न जिलों के साक्षरता दर को अधोलिखित चार्ट में देखें ।
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
  • राज्य के 9 जिले साक्षरता में राज्य औसत से भी अधिक हैं।
  • राज्य के सभी 13 जिलों की साक्षरता राष्ट्रीय साक्षरता औसत (73.0%) से अधिक है।
  • राज्य में ग्रामीण साक्षरता 76.31% व नगरीय साक्षरता 84.45% है।

ग्रामीण एवं नगरीय जनसंख्या

  • 2011 की जनगणना के अनुसार राज्य में जनपदवार ग्रामीण व नगरीय जनसंख्या व राज्य की कुल नगरीय व ग्रामीण जनसंख्या को अधोलिखित चार्ट में देखें-
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
  • जनगणना 2011 के अनुसार राज्य में 69.77% (70,36,954) जनसंख्या ग्रामीण अधिवासों में और शेष 30.23% (30,49,338) जनसंख्या नगरीय अधिवासों में निवास करती है।
  • 2001 में 74.33% (63,10,275) जनसंख्या ग्रामीण अधिवासों में और शेष 25.67% (21,79,074) जनसंख्या शहरी अधिवासों में निवास करती थी ।
  • इस प्रकार 2001-11 के दौरान नगरीकरण में 4.56 की वृद्धि हुई है।
  • राष्ट्रीय स्तर पर नगरीकरण प्रतिशत 31.2% है।
  • देश के सभी राज्यों में नगरीकरण में उत्तराखण्ड का स्थान 20वाँ हैं।
  • जनगणना 2011 के अनुसार राज्य के विभिन्न जिलों में नगरीकरण स्थिति को अधोलिखित सारणी में देखें।
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
  • सारणी के अनुसार राज्य के सर्वाधिक और सबसे कम नगरीय जनसंख्या प्रतिशत वाले जिले क्रमशः देहरादून ( 55.52% ) और बागेश्वर (3.49% ) हैं ।
  • सारणी के अनुसार राज्य के सर्वाधिक नगरीकृत वाले 4 जिले क्रमशः (घटते क्रम में ) हैं – देहरादून ( 55.52% ), नैनीताल (38.94%), हरिद्वार ( 36.66% ) व ऊ. सिं.नग. ( 35.58%)। [DNHU]
  • सारणी के अनुसार राज्य के सबसे कम नगरीकृत 4 जिलें क्रमशः (बढ़ते क्रम में ) हैं – बागेश्वर (3.49% ), रूद्रप्रयाग (4.10%), उत्तरकाशी (7.36%) एवं अल्मोड़ा ( 10.01%)। [BRUA]
  • सर्वाधिक व सबसे कम ग्रामीण जनसंख्या प्रतिशत वाले जिले हैं—- बागेश्वर (96.51% ) व देहरादून ( 44.48%)।
  • सर्वाधिक ग्रामीण जनसंख्या प्रतिशत वाले जिले (घटते क्रम में) क्रमशः हैं—–बागेश्वर ( 96.51% ), रूद्रप्रयाग (95.90%), उत्तरकाशी (92.64% ) व अल्मोड़ा ( 89.99%)।
  • सबसे कम ग्रामीण जनसंख्या प्रतिशत वाले 4 जिले (बढ़ते क्रम में) क्रमश: हैं—— देहरादून ( 44.48%), नैनीताल (61.06% ), हरिद्वार (63.64%) व ऊ. सि.न. ( 64.42% )।
  • 2011 की जनगणना के अनुसार राज्य में 1 लाख से अधिक आबादी वाले नगर इस प्रकार हैं –
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011
उत्तराखंड जनगणना 2011 Uttarakhand census 2011

उत्तराखंड के प्रथम स्थान वाले जिले (जनगणना, 2011)

Uttarkashi

  • राज्य में न्यूनतम जनघनत्व वाला जिला
  • राज्य में न्यूनतम महिला साक्षरता दर प्रतिशत वाला जिला

Tehri Garhwal

  • राज्य की कुल जनसंख्या में न्यूनतम अनुसूचित जनजाति (ST) का प्रतिशत जनसंख्या वाला जिला

Rudrapryag

  • राज्य का सर्वाधिक पुरुष साक्षरता दर प्रतिशत वाला जिला
  • राज्य में न्यूनतम जनसंख्या वाला जिला

Bageshwar

  • राज्य जनसंख्या में सर्वाधिक अनुसूचित जाति (SC) का प्रतिशत वाला जिला
  • राज्य की कुल जनसंख्या में न्यूनतम नगरीय जनसंख्या का प्रतिशत वाला जिला

Dehradun

  • राज्य की कुल जनसंख्या में न्यूनतम अनुसूचित जाति (SC) का प्रतिशत वाला जिला
  • राज्य की कुल जनसंख्या में सर्वाधिक नगरीय जनसंख्या का प्रतिशत वाला जिला
  • राज्य में सर्वाधिक कुल साक्षरता दर प्रतिशत वाला जिला
  • राज्य में सर्वाधिक महिला साक्षरता वाला जिला

Haridwar

  • राज्य में सर्वाधिक जनसंख्या वाला जिला
  • राज्य में सर्वाधिक जनघनत्व वाला जिला
  • राज्य में न्यूनतम लिंगानुपात वाला जिला
  • राज्य में न्यूनतम पुरुष साक्षरता दर प्रतिशत वाला जिला

Almora

  • राज्य का सर्वाधिक लिंगानुपात वाला जिला
  • राज्य का सर्वाधिक शिशु लिंगानुपात वाला जिला

Udham Singh Nagar

  • राज्य की कुल जनसंख्या में सर्वाधिक अनुसूचित जनजाति (ST) का प्रतिशत वाला जिला
  • राज्य में न्यूनतम कुल साक्षरता दर प्रतिशत वाला जिला

प्रारम्भिक प्रश्नोत्तरी

1. 2011 के अनुसार किस जनपद में सबसे कम प्रतिशत शिक्षित है? (पीसीएस प्री. 2007)

(a) चमोली (b) देहरादून (c) नैनीताल (d) ऊ.सि.न.

2. 2011 के अनुसार राज्य का सबसे ज्यादा जनसंख्या वाला जनपद है-(यूडीए प्री. 2003 )

(a) अल्मोड़ा (b) देहरादून (c) हरिद्वार (d) ऊधम सिंह नगर

3. 2001-11 के दौरान निम्न में से किस जिले का जनसंख्या वृद्धिदर ऋणात्मक रहा?

(a) अल्मोड़ा (b) चमोली (c) नैनीताल (d) पिथौरागढ़ ( पीसीएस प्री. 2003 )

4. वर्ष 2001 के अनुसार उत्तराखंड की जनसंख्या थी-

(a) 60 लाख (b) 75 लाख (c) 85 लाख (d) 1 करोड़ (पीसीएस मु. 2003 )

5. 2011 के अनुसार सर्वाधिक साक्षरता दर वाला जनपद है :

(a)उत्तरकाशी (b) देहरादून (c) नैनीताल (d) पौड़ी

6. 2011 की जनगणना के अनुसार राज्य में पुरुष व महिला साक्षरता

(a) 87.82% 70.00% (c) 83.8% 59.2% ( पीसीएस मु. 2009 व ग्रुप ग 2016 )

(b) 83.1% 59.5% (d) 83.6% 59.3%

7. 2011 के अनुसार राज्य में औसत साक्षरता दर है-

(a) 79.63% (b) 87.40% (c) 78.82% (d) 75.80%

8. 2011 के अनुसार निम्न में किसमें जनसंख्या वृद्धि दर ऋणात्मक रही? ( पीसीएस प्री 2012 )

(a) अल्मोड़ा (b) पिथौरागढ़ (c) रूद्रप्रयाग (d) उत्तरकाशी

9. 2011 में उत्तराखण्ड का दशकीय वृद्धिदर राष्ट्रीय औसत से

(a) कम रहा (b) अधिक रहा (c) बराबर रहा (d) लगभग बराबर रहा

10. 2011 के अनुसार सर्वाधिक लिंगानुपात वाला जिला है-

(a) अल्मोड़ा (b) रूद्रप्रयाग (c) पौढ़ी (d) पिथौरागढ़

11. 2011 के अनुसार सबसे कम लिंगानुपात वाला जिला है-

(a) देहरादून (b) हरिद्वार (c) ऊ.सि.न. (d) नैनीताल

12. 2011 के अनुसार सबसे कम जनघनत्व वाला जिला है-

(a) बागेश्वर (b) पिथौरागढ़ (c) चमोली (d) उत्तरकाशी

13. 2011 के अनुसार सर्वाधिक दशकीय वृद्धिदर वाला जिला है-

(a) ऊ.सि.न. ‘ (b) हरिद्वार (c) देहरादून (d) नैनीताल

14. 2011 के अनुसार राज्य के कितने जिलों की जनसंख्या 10 लाख सेअधिक है?:

(a) 5 (b) 3 (c) 2 (d) 1

15. 2011 के अनुसार राज्य के कितने जिलों की साक्षरता राष्ट्रीय औसत से कम है?

(a) 3 (b) 1 (c) 2 (d) o

16. 2011 के अनुसार सबसे कम नगरीकृत जिला है

(a) हरिद्वार (b) बागेश्वर (c) रूद्र प्रयाग (d) उत्तरकाशी

17. अनुसार सर्वाधिक नगरीकृत जिला है (बंदी रक्षक – 2016 )

(a) चम्पावत (b) नैनीताल (c) देहरादून (d) टिहरी

18. 2011 के अनुसार निम्न में से किसकी आबादी न्यूनतम है? (पीसीएस मुख्य 2010 )

(a) उत्तरकाशी (b) रूद्रप्रयाग (c) बागेश्वर (d) चम्पावत

19. 2011 के अनुसार राज्य की कुल जनसंख्या में शिशु जनसंख्या प्रतिशत है-

(a) 16.02% (b) 16.75% (c) 13.44% (d) 14.07%

20. 2011 के अनुसार 2001-11 के दौरान राज्य में जनसंख्या वृद्धिदर रही-(कनिष्ठ सहायक-2018 )

(a) 20.41% (b) 19.71% (c) 18.75% (d) 18.81%

21. 2011 के अनुसार 2001-11 के दौरान दशकीय वृद्धिदर में सर्वाधिक बढ़ोत्तरी हुई-

(a) हरिद्वार में (b) देहरादून में (c) ऊ.सि.न. में (d) नैनीताल में

22. 2011 के अनुसार 2001-11 के दौरान राज्य के औसत लिंगानुपात में कितने की वृद्धि हुई है ?

(a) 1 की (b) 3 की (c) 5 की (d) 7 की

23. 2011 के अनुसार राज्य की कितना प्रतिशत आबादी शहरी अधिवासों में रहती है?

(a) 25.21% (b) 27.40% (c) 30.23% (d) 39.94%

24. 2011 के अनुसार राज्य में औसत लिंगानुपात है- (RO/ARO-2017 )

(a) 963 (b) 951 (c) 956 (d) 943

25. 2011 के अनुसार राज्य के शहरी क्षेत्रों में लिंगानुपात कितना है?

(a) 962 (b) 938 (c) 893 (d) 884

26. 2011 के अनुसार राज्य के शहरी आबादी में दशकीय वृद्धिदर हुई-

(a) 18.81% की (c) 34.38% की (b) 29.36 % की (d) 39.94% की

27. 2011 के अनुसार राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में साक्षरता है-

(a) 71.62% (c) 78.82% (b) 76.31 % (d) 84.45 %

28. 2011 के अनुसार सर्वाधिक नगरीकृत जिलों का निम्न में से कौन सा क्रम सही है –

(a) देहरादून > हरिद्वार > नैनीताल

(b) देहरादून > नैनीताल > हरिद्वार

(c) नैनीताल > देहरादून हरिद्वार

(d) हरिद्वार >देहरादून >नैनीताल

29. 2011 की जनगणना के अनुसार निम्न में से किस जिले की जनसंख्या सबसे कम है? (2016)

(a) चमोली की (b) बागेश्वर की (c) रुद्रप्रयाग की (d) चम्पावत की

30. 2011 के अनुसार सर्वाधिक महिला साक्षरता वाला जिला है-

(a) देहरादून (b) नैनीताल (c) पौड़ी (d) चमोली

31. 2011 के अनुसार सबसे कम महिला साक्षरता वाला जिला है-

(a) उत्तरकाशी (b) टिहरी (c) ऊ.सि.न. (d) हरिद्वार

32. 2011 की जनगणना के अनुसार जनसंख्या में नैनीताल का स्थान है- (लोवर – 2016 )

(a) दूसरा (b) तीसरा (c) चौथा (d) छठा

33. उत्तराखण्ड का जनसंख्या घनत्व है-

(a) 159 व्यक्ति/वर्ग किमी (c) 170 व्यक्ति/वर्ग किमी (कार्या.सहा./कम्प्यूटर ऑप.- 2016 )

(b) 165 व्यक्ति/वर्ग किमी (d) उपरोक्त में से कोई नहीं

34. उत्तराखण्ड में सर्वाधिक नगरीकृत जनपद कौन-सा है ? (बंदी रक्षक – 2016 )

(a) हरिद्वार (b) नैनीताल (c) यूएस नगर (d) देहरादून

35. उत्तराखण्ड राज्य के निम्न जनपदों में से किस जनपद की जनसंख्या सबसे अधिक है? (महिला कांस्टेबल – 2016 )

(a) चमोली (b) पौड़ी गढ़वाल (c) हरिद्वार (d) उत्तरकाशी

36. उत्तराखण्ड में निम्न में से किस जनपद की सबसे कम जनसंख्या है? (पटवारी / लेखपाल – 2016 )

(a) देहरादून (b) बागेश्वर (c) हरिद्वार (d) पिथौरागढ़

37. उत्तराखण्ड में निम्न में से किस जनपद की पुरुष जनसंख्या सबसे अधिक है? (पटवारी – 2016)

(a) चमोली (b) अल्मोड़ा (c) देहरादून (d) हरिद्वार

38. जनगणना 2011 की अनुसार, उत्तराखण्ड में देश की आबादी का कितना प्रतिशत निवास करता है? ( बंदी रक्षक – 2016 )

(a) 0.83 (b) 0.95 (c) 1.5 (d) 2.0

 

39. उत्तराखण्ड में महिला साक्षरता की दर क्या है? (कनिष्ठ सहायक – 2016 )

(a) 88.33% (b) 70.70% (c) 79.63% (d) 71,20%

40. 2011 के अनुसार उत्तराखण्ड में सर्वाधिक साक्षरता दर वाला जिला है-( अपर. नि. सचिव – 2017 )

(a) उत्तरकाशी (b) देहरादून (c) नैनीताल (d) बागेश्वर

41. जनगणना 2011 के अनुसार उत्तराखण्ड राज्य की कुल जनसंख्या है-( अपर. नि. सचिव – 2017 )

(a) 1,5048,560 (c) 0,90,09,280 (b) 1,00,86,292 (d) 0,51,54,178.

42. 2011 की जनगणना के अनुसार साक्षरता में उत्तराखण्ड का देश में कौन-सा स्थान हैं-(सींचपाल – 2017 )

(a) 17 वाँ (b) 18 वाँ (c) 19वाँ (d) 20 वाँ

43. 2011 की जनगणना के अनुसार उत्तराखण्ड का सर्वाधिक जनसंख्या वाला जनपद है-( अप.नि. सचिव – 2017 )

(a) अल्मोड़ा (b) देहरादून (c) हरिद्वार (d) ऊधमसिंह नगर

44. वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार, उत्तराखंड राज्य में न्यूनतम साक्षरता दर किस जिले में थी? (UKPCS RO/ARO-2017 )

(a) उत्तरकाशी (c) हरिद्वार में (b) टिहरी गढ़वाल में (d) ऊधमसिंह नगर में

45. लिंगानुपात की दृष्टि से उत्तराखण्ड भारत में किस स्थान पर है ? ( ग्राम पंचायत विकास अधिकारी – 2018 )

(a) 13वें (c) 25 वें (d) 20वें (b) 17 वें

46. वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार जनसंख्या घनत्व के संबंध में उत्तराखण्ड का भारत में स्थान है-

(ग्राम पंचायत विकास अधिकारी-2018 )

(d) 29वाँ (a) 25वाँ (b) 27 वाँ (c) 28 वाँ

47. 2011 की जनगणना के अनुसार उत्तराखण्ड का जनघनत्व है-

(a) 189 (b) 186 (c) 173 (d) 194

48. 2011 की जनगणना के अनुसार सर्वाधिक नगरीय जनसंख्या वाला जिला- (प्रवर्तन सिपा.-2021)

(a) देहरादून (c) हरिद्वार (b) उधम सिंह नगर (d) चम्पावत

49. 2011 की जनगणना के अनुसार किन जिला में नकारात्मक वृद्धि हुई- (पीसीएस-2022)

(a) टिहरी ———— बागेश्वर

(b) पौढ़ी—————अल्मोड़ा

(c) उत्तरकाशी——– चम्पावत

(d) चमोली————रुद्रप्रयाग

THE END

MPPSC GK —Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page