• Waterfall in Himachal Pradesh
    State-wise GK

    Waterfall in Himachal Pradesh

    Unit-02 Drainage of Himachal Pradesh हिमाचल प्रदेश का अपवाह Chapter-08 Waterfall in Himachal Pradesh हि.प्र. के झरने व चश्मे Waterfall in Himachal Pradesh हि.प्र. के झरने व चश्मे क्रम सं. झरने/चश्मे (नदी से संबद्ध) जिला/स्थान जल 1 वशिष्ठ (व्यास नदी के बाएँ किनारे) कुल्लू (मनाली) गर्म 2 खीर गंगा (पार्वती नदी से संबद्ध) कुल्लू गर्म 3 कसोल (पार्वती नदी से संबद्ध) कुल्लू गर्म 4 मणिकर्ण (पार्वती नदी के दाएँ किनारे) कुल्लू गर्म 5 रहला कुल्लू (मनाली) ठण्डा 6 ज्योरी (अन्नू नाले के पास) शिमला (रामपुर बुशहर) गर्म 7 चैडविक शिमला (समर हिल) ठण्डा 8 टापरी किन्नौर गर्म 9 भागसुनाथ काँगड़ा (मैकलोडगंज) ठण्डा 10 ज्वालामुखी (व्यास नदी के पास) काँगड़ा ठण्डा…

  • Forest of Himachal Pradesh
    State-wise GK

    Forest of Himachal Pradesh

    Unit-01 Geography of Himachal Pradesh हिमाचल प्रदेश का भूगोल Chapter-06 Forest,Wildlife and NP of Himachal Pradesh हिमाचल प्रदेश – वनस्पति, वन, जीव-जन्तु, वन्यजीव अभयारण्य, राष्ट्रीय पार्क एवं जैव-विविधता वनस्पति, वन, जीव-जन्तु, वन्यजीव अभयारण्य, राष्ट्रीय पार्क एवं जैव-विविधता (i) हि.प्र. में आर्द्रभूमि- Forest of Himachal Pradesh 1971 में आर्द्रभूमियों के संरक्षण के लिए 2 फरवरी को ईरान के रामसर (कैस्पियन सागर के तट पर) पर अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन हुआ। वर्तमान में 169 देश इस संधि में शामिल हैं। यह समझौता 1975 में लागू हुआ। भारत 1982 में इसमें शामिल हुआ। विश्व आर्द्रभूमि दिवस 1997 से प्रतिवर्ष 2 फरवरी को मनाया जाता है। There are 75 Ramsar sites in India.These are wetlands deemed…

  • Soils of Himachal Pradesh
    State-wise GK

    Soils of Himachal Pradesh

    Unit-01 Geography of Himachal Pradesh हिमाचल प्रदेश का भूगोल Chapter-05 Soils of Himachal Pradesh हिमाचल प्रदेश – मिट्टी मिट्टी – Soils of Himachal Pradesh हिमाचल प्रदेश की मिट्टियाँ-हिमाचल प्रदेश की मिट्टी को 5 खण्डों में बाँटा जा सकता है- – (1) निम्न पहाड़ी मिट्टी- इस खण्ड में समुद्रतल से 1000 मी. तक ऊँचाई वाले क्षेत्र आते हैं। सिरमौर की पौंटा घाटी, नाहन, बिलासपुर, ऊना, हमीरपुर, काँगडा के मैदानी भाग, मण्डी की बल्हघाटी, चम्बा घाटी क्षेत्र इसके अंतर्गत् आते हैं। इस खण्ड की मिट्टी चिकनी व पथरीली मिट्टी का मिश्रण है। इसमें कार्बन और नाइट्रोजन 10:1 के अनुपात में पाया जाता है। इसमें धान, मक्की, गन्ना, अदरक, नींबू व आम की…

  • Valleys in Himachal Pradesh
    State-wise GK

    Valleys in Himachal Pradesh

    Unit-01 Geography of Himachal Pradesh हिमाचल प्रदेश का भूगोल Chapter-04 Valleys in Himachal Pradesh हिमाचल प्रदेश -घाटियाँ काँगड़ा घाटी- काँगड़ा घाटी को वीर-भूमि के नाम से जाना जाता है। यह शाहपुर से लेकर पालमपुर तक फैली है। इस घाटी के प्रमुख नगर हैं-धर्मशाला, नूरपुर, पालमपुर, काँगड़ा, बैजनाथ। धौलाधार पर्वत श्रृंखला काँगड़ा घाटी पर लगे मुकुट के समान है। घाटी का बीड़ स्थान हैं—-ग्लाइडिंग के लिए प्रसिद्ध है। सांगला (बस्पा) घाटी– सांगला घाटी समुद्रतल से 1830 मीटर से 3475 मीटर तक ऊँचाई के बीच स्थित है। सांगला घाटी का सबसे ऊँचा गाँव छितकुल है। ‘कामरू’ व ‘सांगला’ इस घाटी के प्रमुख गाँव हैं। सांगला घाटी को बस्पा घाटी के नाम से…

  • Passes in Himachal Pradesh
    State-wise GK

    Passes in Himachal Pradesh

    Unit-01 Geography of Himachal Pradesh हिमाचल प्रदेश का भूगोल Chapter-03 Passes in Himachal Pradesh हिमाचल प्रदेश के दरों [दरे/जोतें] के नाम क्रम सं. दरों के नाम समुद्रतल से ऊँचाई संबंधित जिले 0 परांगला 5,548 मीटर लाहौल-स्पीति 1 भीम घसूतड़ी 5,440 मीटर काँगड़ा-चम्बा 2 लालुनी जोत 5,440 मीटर लाहौल-स्पीति 3 पीन पार्वती 5,319 मीटर कुल्लू-स्पीति 4 मकोड़ी जोत 5,190 मीटर काँगड़ा 5 दुग्गी जोत 5,060 मीटर भरमौर-लाहौल 6 तैंतु दर्रा 5,000 मीटर कुल्लू-काँगड़ा 7 कुगती दर्रा 4,961 मीटर लाहौल-भरमौर 8 गुलारी जोत 4960 मीटर लाहौल 9 छोबिया दर्रा 4934 मीटर लाहौल-भरमौर [लाहौल और भरमौर के मध्य] 10 दराटी दर्रा/‘दरारी दर्रा’ 4,720 मीटर चम्बा-पांगी 11 तामसर दर्रा 4572 मीटर काँगड़ा 12 कुंजम…

  • Mountain Ranges in Himachal Pradesh
    State-wise GK

    Mountain Ranges in Himachal Pradesh

    Unit-01 Geography of Himachal Pradesh हिमाचल प्रदेश का भूगोल Chapter-02 Mountain Ranges in Himachal Pradesh हिमाचल प्रदेश की पर्वत श्रृंखलाएँ, चोटियाँ उच्चावच (Relief)- स्थलरूपों से अभिप्राय धरातलीय विन्यास से है, जबकि इन्हीं धरातलीय स्वरूपों के उच्चवर्ती एवं निम्नवर्ती भू-भागों की ऊँचाइयों एवं गहराइयों में पाए जाने वाले अन्तर को उच्चावच कहते हैं। दूसरे शब्दों में पर्वतों की ऊपरी चोटियाँ एवं घाटी के निम्नवर्ती भू-भागों के बीच औसत ऊँचाई का अन्तर ही उच्चावच कहलाता है। स्थलरूपों का संबंध स्थलरूपों के विन्यास (Configuration) से है। इन स्थलरूपों में पर्वत, पठार, पहाड़ियाँ, मैदान, कटक, घाटियाँ, उच्च भूमि, निम्न भूमियाँ तथा स्थला कृतियाँ जो धरातल पर विद्यमान हैं, सम्मिलित होती हैं। हिमाचल प्रदेश पश्चिमी…

  • District of Himachal Pradesh
    State-wise GK

    District of Himachal Pradesh

    Unit-01 Geography of Himachal Pradesh हिमाचल प्रदेश का भूगोल Chapter-01 Location & District of Himachal Pradesh हिमाचल प्रदेश की स्थिति व जिले हिमाचल प्रदेश की स्थिति व जिले शाब्दिक अर्थ-‘हिमाचल’ शब्द ‘हिम’ और ‘अचल’ शब्दों से मिलकर बना है। हिम का अर्थ है ‘बर्फ’ और ‘अचल’ का अर्थ है ‘पर्वत’ अर्थात् हिमाचल बर्फ का पर्वत अथवा बर्फ से घिरा पर्वत है। स्थिति (भौगोलिक)- हिमाचल प्रदेश पश्चिमी हिमालय पर्वत-शृंखला में बसा हुआ है। हिमाचल 75°-47′-55″ तथा 79°-04-20″ रेखांश पूर्व और 30°-22′-40″ तथा 33°-12′-40″ अक्षांश उत्तर के मध्य स्थित है। हिमाचल प्रदेश की सीमाएँ 1170 किमी. हैं, जो दक्षिण में हरियाणा और उत्तर प्रदेश, उत्तर में जम्मू-कश्मीर से, पश्चिम में पंजाब से,…

  • Maurya Empire Questions Answers
    HISTORY

    Maurya Empire Questions Answers

    Chapter-07 Maurya Empire मौर्य साम्राज्य [Part-04] Maurya Empire Questions Answers Multiple Asked Questions 1- वह ग्रन्थ जिसमें पाटलिपुत्र प्रशासन का वर्णन उपलब्ध है – (a) अर्थशास्त्र (b) इण्डिका (c) राजतरंगिणी (d) पुराण 2- अशोक को स्मरण किए जाने का कारण है – (a) कलिंग विजय (b) बौद्ध महासम्मेलन (c) बौद्ध धर्म प्रचार । (d) जनहित 3- धर्म महामात्र का कार्य था – (a) बौद्ध धर्म प्रचार (b) मठाधीश कर्तव्य । (c) धर्म परिभाषित करना। (d) नैतिक सिद्धान्तों का प्रचार करना। 4- तृतीय बौद्ध सम्मेलन सम्पन्न हुआ था। (a) राजगृहे। (b) वैशाली (c) कुण्डलवन (d) पाटलिपुत्र । 5. भारतीय लोगों के जिस गुण की मेगस्थनीज ने प्रशंसा की है, वह है…

  • QUESTIONS about Post Maurya
    HISTORY

    QUESTIONS about Post Maurya

    Chapter-08 मौर्योत्तर काल Post Maurya [Part-03] Click here – To Download the Complete Notes. It contains Chapter-08 Post Maurya Empire which divided into three different post/blogs in website as (1) Post Maurya Empire (2) Foreign Invasion in India (3) Questions about Post Maurya Empire It includes 42 page pdf having multiple images and maps and Covers all Questions About the post Maurya with explanation that asked in the all civil services examinations Click Here – to See PART-01 Click Here – to See Part-02 QUESTIONS about Post Maurya 1- शाही उपाधि ‘कैसर’ किससे उद्भूत थी? (a) फारसी (b) सीथियन (c) चीनी (d) रोमन 2- मातृ देवी उमा का नाम किसके…

  • Foreign Invasion in India
    HISTORY

    Foreign Invasion in India

    Foreign Invasion in India Chapter-08 मौर्योत्तर काल Post Maurya [Part-02] Click here – To Download the Complete Notes. It contains Chapter-08 Post Maurya Empire which divided into three different post/blogs in website as (1) Post Maurya Empire (2) Foreign Invasion in India (3) Questions about Post Maurya Empire It includes 42 page pdf having multiple images and maps and Covers all Questions About the post Maurya with explanation that asked in the all civil services examinations II. विदेशी उत्तराधिकारी मौर्य काल के पतन के बाद मध्य एशिया से हिंद-यवन (इंडो-ग्रीक) आक्रमण शक आक्रमण पार्थियाई (पह्लव) आक्रमण व कुषाणों ने भारत पर आक्रमण किया तथा एक बड़े क्षेत्र पर अधिकार कर…

You cannot copy content of this page